पुत्र प्राप्ति के लिए समोग का सही समय एवं तरीक़ा क्या है?

दोस्तों आज के इस आधुनिक युग में भी पता नहीं क्यों लोग लड़कों और लड़कियों को अलग अलग नज़रिए से देखते हैं।आज के दौर में लड़कियाँ किसी भी मामले में लड़कों से कम नहीं है ,फिर भी लोग ज़्यादातर चाहते हैं की उन्हें पुत्र की ही प्राप्ति हो ।

ये पुरातन काल से ही चलता आ रहा है और सायद आगे भी ऐसा ही होगा की लोग पुत्र को ही ज़्यादा चाहेंगे क्योंकि पुत्र बुढ़ापे का सहारा होता है और पुत्री तो अपने ससुराल चली जाती है इसीलिए सायद लोग पुत्र प्राप्ति के बारे में ज़्यादा सोचते हैं ।

लेकिन ये बिलकुल ग़लत बात है ,समाज में लड़का या लड़की सभी को एक नज़रिए से देखना चाहिए ।

लोग पुत्र की प्राप्ति के लिए तरह तरह के प्रयास भी करते हैं,यह तक की आज के समय में आपको काफ़ी सारे ज्ञान बटने वाले लोग youtube और facebook पर मिल जाएँगे जो आपको पुत्र प्राप्ति के तरीक़े बताएँगे।लेकिन उन सभी तरीक़ों का कोई फ़ायदा नहीं होता है ,क्योंकि पुत्र की प्राप्ति किसी जुगाड़ से नहीं होती है ये तो पूरी तरह से पति पत्नी के ऊपर डिपेंड करता है ।

फिर भी अगर आप यह तक आए है तो आपको ज़रूर जानना होगा की क्या करे ताकि पुत्र की प्राप्ति हो ।तो आइए जानते हैं की –

पुत्र प्राप्ति के लिए सम्भोग का सही समय एवं तरीक़ा क्या है?पुत्र प्राप्ति के लिए समोग का सही समय क्या है :-

जैसा की आपको पता ही है की संतान की प्राप्ति मसिकधर्म होने के बाद सम्भोग करने से होता है ,ऐसे में अगर आपको पुत्र चाहिए तो मासिक धर्म होने के चार दिन बाद रात्रि में शुभ ग्रह केन्द्र (१,४,७,१०) तथा त्रिकोण (१,५,९) में हों,कुल मिलकर कहे तो सुबह के ३-४ बजे के आसपास अपनी पत्नी के साथ XXXXX  करें तो पुत्र की प्राप्ति होगी ।

पुत्र प्राप्ति के लिए समोग का सही तरीक़ा क्या है :-

कामसूत्र के रचियता महर्षि वात्स्यायन ने एक ख़ास समोग के तरीक़े के बारे में बताया है की पत्नी को हमेसा पति के बाएँ ओर सोना चाहिए और बाएँ ओर सोते हुए ही for₹pay करना चाहिए ।थोरि देर बाद महिला को अपने बाएँ ओर और पति को अपने दाहिने वोर घूमना चाहिए उसके बाद वो कम करना चाहिए और वो काम करते समय ध्यान एक दूसरे पर केंद्रित करना चाहिए।अगर कोई पहले से ऐसा कर रहा है तो इसका उल्टा आपको करना चाहिए।

Disclaimer:- Getting a child is a completely natural phenomenon, it is not in the hands of us humans if you have followed instructions given with the right method and time according to the above-mentioned for son and If you do not get a son, then its We are not responsible for this. Follow all these methods at your own risk.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here